जीवन शैली सामाजिक

आखिर कितना सेक्स करना सही है?

जिस तरह की दुनिया और जितने तरह के लोग हैं, उनकी जिस्मानी ख्वाहिशें भी उतनी तरह की ही है| दुनिया के हर इंसान की शारीरिक चाह अलग अलग होती है| अब ये  इतना पेचीदा मामला बन गया है कि ये जानना जरुरी हो गया है कि आखिर कितना सेक्स करना सही है ?

सेक्स को लरकर लोगों का दायरा इतना अलग अलग  कि आप चाह कर भी किसी नतीजे पर नहीं पहुँच सकते हैं|

सामान्य और साधारण सेक्स लाइफक्या है?  इसके जवाब में कुछ आंकड़ों को देखा|  जैसे कि हमें कितना ज्यादा सेक्स करने की जरुरत है, या हम अपने साथी से बिस्तर पर कैसा बर्ताव की उम्मीद उम्मीद करते हैं| आपको बताने से पहले बता दें कि ये सिर्फ मोटे अनुमान है|

खुले समाज में रहने वाले लोग भी  खुलकर बात नहीं कर पाते हैं| कुछ लोग सच को छुपाने की कोशिश करते हैं तो कुछ लोग झूठे दावों को बढाकर पेश करते हैं|

इस दुनिया में कुछ ऐसे भी लोग हैं जिन्हें सेक्स की जरुरत नहीं होती है| ये आंकड़ा दुनिया की पूरी आबादी का मात्र 0.4% है| इसके बाद है समलैंगिक संबंध में अभिरुचि का| आपको जानकर हैरानी होगी की दुनिया के 15% लोग समलैंगिक सम्बन्ध बनाना पसंद करते हैं| इसमें औरतें और मर्द दोनों हैं| (आंकड़े साइकोलोजी और सेक्सुएलिटी वेबसाइट से).

आप किससे जिस्मानी संबंध बनाते हैं?

“जर्नल ऑफ सेक्सुअल मेडिसिन” के अनुसार लगभग 53% लोग लंबे रिश्ते के पार्टनर से सेक्स करते हैं| जबकि 24 % लोग कैज़ुअल पार्टनर के साथ सेक्स संबंध बनाते हैं| वहीं दोस्तों के साथ संबंध बनाए वालों की संख्या लगभग 12% है|  और अनजान लोगों के साथ संबंध बनाने वाले 9% हैं|

सबसे खास सवाल ये है कि आखिर हम इंसान कितनी बार सेक्स करते हैं?

अमेरीकी ग्लोबल सर्वे के अनुसार 40% लोग सप्ताह में 1-3 सेक्स करते हैं| 28% लोग महीने में 1-2 बार| सिर्फ 6.5% लोग ऐसे हैं जो सप्ताह में चार बार या  इससे ज्यादा बार सेक्स करते हैं| वहीं 18% लोग ऐसे हैं जो एक साल से एकबार भी सेक्स नहीं किये हैं| 8% ऐसे लोग भी हैं जो साल में सिर्फ एक बार संबंध बनाये हैं|

कितना सेक्स करना सही ?

80% मर्द और 86% महिलाएं सामान्य यौन संबंध बनाते हैं| अमेरिका में हुए एक सर्वे में 18 से 59 साल  के लगभग 2000 लोगों की राय जानने के बाद मालूम हुआ कि 80% मर्द और 67% महिलाएं ओरल सेक्स करते हैं|

समय की बात करें तो सामान्य लोग 15-20 मिनट सेक्स करते हैं| गे मर्द का समय भी लगभग बराबर है| वहीं लेस्बियन महिलाएं 30-40 मिनट तक संबंध बनती हैं|

बात आती है ऑर्गेज्म की

जर्नल ऑफ सेक्स रिसर्च के अनुसार ऑर्गेज्म को लेकर मर्द और महिलाएं दोनों झूठ बोलते हैं| दोनों अपने पार्टनर को खुश करने के लिए ऐसा करते हैं| लगभग 50% महिलाएं और 25% मर्द झूठ बोलते हैं| अब आपको समझ आ गया होगा कि आखिर कितना सेक्स करना सही है|

इन आंकड़ों को लेकर आप उलझ गए होंगे| इसलिए सबसे अच्छा ये है कि आप अपने साथी की चाहतों को पूरा करें| अपने तजुर्बे के अनुसार संबंध बनाये| दुनिया की फ़िक्र न करें|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *